Finance

रुपया नई गर्त में पहुंचा, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले पहली बार 81 अंक के पार

रुपये में आज भारी गिरावट देखने को मिली. अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 62 पैसे टूटकर 81.09 पर आ गया। इसके साथ ही रुपया अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है।

अमेरिकी डॉलर में मजबूती के बीच निवेशकों द्वारा जोखिम उठाने से परहेज करने से शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में रुपया 44 पैसे टूटकर पहली बार 81 के स्तर को पार कर गया। मुद्रा कारोबारियों ने कहा कि अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व और बैंक ऑफ इंग्लैंड द्वारा मुद्रास्फीति पर काबू पाने और यूक्रेन में भू-राजनीतिक तनाव बढ़ने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी से निवेशक जोखिम उठाने से बच रहे हैं। इसके अलावा विदेशी बाजारों में अमेरिकी मुद्रा की मजबूती, घरेलू शेयर बाजार में गिरावट का असर भी रुपये पर पड़ रहा है। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 81.08 पर खुला और फिर पिछले बंद भाव के मुकाबले 44 पैसे की गिरावट दर्शाता 81.23 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया। गुरुवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 83 पैसे की गिरावट के साथ 80.79 के सर्वकालिक निचले स्तर पर बंद हुआ था।

फेडरल रिजर्व ने प्रमुख नीतिगत ब्याज दर में 0.75 प्रतिशत की वृद्धि की, जबकि बैंक ऑफ इंग्लैंड ने भी गुरुवार को अपनी प्रमुख ब्याज दर बढ़ाकर 2.25 प्रतिशत कर दी। स्विस नेशनल बैंक ने भी ब्याज दर में 0.75 प्रतिशत की वृद्धि की है। इस बीच, डॉलर इंडेक्स, जो छह मुद्राओं के मुकाबले ग्रीनबैक की ताकत का अनुमान लगाता है, 0.05 प्रतिशत बढ़कर 111.41 हो गया। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 0.57 प्रतिशत गिरकर 89.94 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने गुरुवार को शुद्ध रूप से 2,509.55 करोड़ रुपये के शेयर बेचे, अनंतिम विनिमय डेटा दिखाया।

 

Leave a Reply