Cricket

बांग्लादेश के बाद पाकिस्तान ने भी खोली ‘आंखें’, आत्मविश्वास के रथ पर सवार हो गया श्रीलंका

टी20 वर्ल्ड कप से पहले बेहद खतरनाक मानी जा रही पाकिस्तान टीम के लिए एशिया कप भी आंखें खोलने वाला साबित हुआ है। इससे पहले बांग्लादेश के कप्तान शाकिब ने भी एशिया कप को अपनी टीम के लिए आंखें खोलने वाला टूर्नामेंट बताया था। समस्या यह है कि भारतीय टीम भी इस कतार में है क्योंकि वे फाइनल में नहीं पहुंच सके। लेकिन टीम इंडिया ने जहां अपने आखिरी सुपर फोर मैच में पहुंचते-पहुंचते टॉप तीन बल्लेबाजों की फॉर्म हासिल कर ली, वहीं पाकिस्तान के पास भी इस तरह कुछ सकारात्मक हासिल करने के लिए फाइनल मैच है।

आत्मविश्वास के रथ पर सवार श्रीलंका

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने स्वीकार किया कि उनकी टीम ने श्रीलंका के खिलाफ पांच विकेट की हार में काफी गलतियां की हैं और टीम को अपने खेल में सुधार करने और एशिया कप 2022 के फाइनल में दमदार वापसी करने की जरूरत होगी।

पाकिस्तान की टीम इस बार पहले बल्लेबाजी करते हुए 19.1 ओवर में 121 रन पर ढेर हो गई। श्रीलंका ने 17 ओवर में 124 रन बनाकर मैच जीत लिया। एशिया कप अगर किसी टीम के लिए संजीवनी साबित हुआ है तो वो श्रीलंका है। अब फाइनल का नतीजा चाहे जो भी हो, श्रीलंका विश्व कप में आत्मविश्वास लेने वाला है।

पाकिस्तान के लिए आत्ममंथन का समय

हालांकि, पाकिस्तान ने इस बार भी अपनी अच्छी गेंदबाजी की है और वे शाहीन अफरीदी के बिना भी घातक दिखे हैं। बाबर आजम ने अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए कहा कि हसन अली ने भी अच्छा प्रदर्शन किया।

उन्होंने कहा, ‘पावरप्ले के बाद हमारी बल्लेबाजी अच्छी नहीं थी। हम वहां से आगे नहीं बढ़ सके। ”

उन्होंने कहा, ”निश्चित तौर पर (गेंदबाजी को लेकर) खुश हूं। हमारे तेज गेंदबाजों की फौज बहुत अच्छी है। हसन वापस आ गया था, और बाकी भी अच्छे थे। हमने गलतियां की हैं और फाइनल से पहले इस पर चर्चा करनी होगी।

सही समय पर क्लिक किए गए प्रमुख खिलाड़ी
इससे पहले श्रीलंका के वानिंदु हसरंगा ने तीन विकेट लेकर पूरी टीम के साथ अच्छी गेंदबाजी की और सुपर फोर के पिछले मैच में पाकिस्तान की टीम 121 रन पर सिमट गई।

आरसीबी के अहम खिलाड़ी हसरंगा ने अपने आखिरी ओवर में लगातार दो विकेट चटकाए और 21 रन देकर तीन विकेट चटकाए। श्रीलंकाई स्पिनरों ने 12 ओवर में 60 रन देकर पांच विकेट चटकाकर अच्छा प्रदर्शन किया। जिसमें महेश ठेक्षणा (21 रन देकर दो विकेट) और धनंजय डिसिल्वा (18 रन देकर एक विकेट) भी ठीक रहे।

 

Leave a Reply